CBSE पेपर लीक: केंद्र पर बरसा प्राइवेट स्कूलों का संगठन, उठाई प्रकाश जावड़ेकर के इस्तीफे की मांग

नवभारत टाइम्स, Press 24 News
News Dated: 
31-Mar-2018

नई दिल्ली - केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) पेपर लीक मामले में अब प्राइवेट स्कूलों ने केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। निजी स्कूलों का नेतृत्व करनेवाले एक संगठन ने सरकार पर बोर्ड परीक्षाओं को उचित तरीके से करा पाने में असफल रहने का आरोप लगाया है। इतना ही नहीं संगठन ने केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के इस्तीफे की मांग की है।

‘नैशनल इंडिपेंडेंट स्कूल एलायंस’(एनआईएसए) के अध्यक्ष कुलभूषण शर्मा ने कहा कि सीबीएसई पेपर लीक बच्चों के लिए तनाव की वजह बन गया है। एनआईएसए देश में 60,000 निजी स्कूलों का नेतृत्व करने का दावा करता है। शर्मा ने कहा कि सरकार परीक्षाओं को उचित तरीके से करा पाने की जिम्मेदारी क्यों नहीं ले रही? शर्मा ने कहा, ‘हमने बार-बार सीबीएसई से अनुरोध किया कि बोर्ड को अपनी भूमिका मुख्य उद्देश्य तक सीमित करनी चाहिए जो कि परीक्षाएं कराना है। राजनीतिक दबाव के चलते, सीबीएसई अपने मुख्य उद्देश्य से भटक गई है और उसने नियंत्रण रखने वाले के तौर पर काम करना शुरू कर दिया।’

शर्मा ने आगे कहा, ‘सीबीएसई एचआरडी मंत्रालय के अधीन काम करती है, इसलिए हम इसे मंत्रालय की असफलता के तौर पर देखते हैं और एचआरडी मंत्री के तत्काल इस्तीफे की मांग करते हैं।’ उन्होंने सीबीएसई को ‘पूर्णत: स्वतंत्र एवं स्वायत्त संगठन’बनाने का सुझाव दिया और मंत्रालय और बोर्ड की भूमिकाओं के विभाजन की मांग भी की।

गूगल का आया जवाब

गूगल ने उस ई-मेल आईडी के बारे में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को जानकारी भेजी है जिसके जरिए सीबीएसई अध्यक्ष को 10 वीं कक्षा के गणित के पेपर के लीक होने के संबंध में मेल भेजा गया था। हालांकि, गूगल ने विस्तृत जानकारी देने से इनकार कर दिया है। दूसरी तरफ दिल्ली पुलिस अपनी जांच में लगी हुई है। बाहरी दिल्ली के कई स्कूलों और कोचिंग सेंटरों से पूछताछ की गई है। सूत्रों के मुताबिक, अबतक कोई बड़ी सफलता हासिल नहीं हुई है।

यह खबर नवभारत टाइम्स एवं Press 24 News के वेबसाइट पर पढ़ें.