12 अक्टूबर को प्राइवेट स्कूलों का ब्लैक डे

नवभारत टाइम
News Dated: 
06-Oct-2017

प्रस, नई दिल्ली : प्राइवेट स्कूलों के मैनेजमेंट में सरकार के दखल के खिलाफ 12 अक्टूबर को देशभर के 60,000 स्कूल विरोध करेंगे। नैशनल इंडिपेंडेंट स्कूल्स अलायंस (NISA) की अगुवाई में यह प्रोटेस्ट होगा, जिसके तहत बजट प्राइवेट स्कूल आते हैं। अनऐडेड प्राइवेट स्कूलों का यह संगठन इस दिन ब्लैक डे मनाएगा।

निसा का कहना है कि एजुकेशन सेक्टर में गलत सरकारी नीतियां आ रही हैं और स्कूल के मैनेजमेंट में सरकार का दखल बढ़ता जा रहा है। इसी का विरोध करते हुए मैनेजमेंट, टीचर्स, स्टाफ काली पट्टी बांधकर स्कूल गेट और बसों में अपना विरोध जताएंगे, हालांकि स्कूलों में काम हर दिन की तरह होगा। निसा के नैशनल प्रेजिडेंट कुलभूषण शर्मा ने कहा, स्कूलों की सुरक्षा के लिए तैयार की जा रही नीतियों के कारण प्राइवेट स्कूलों में सालों से कार्यरत टीचर्स, प्रिंसिपल्स और बाकी अहम पदों पर काम कर रहा महिला स्टाफ को डरा दिया है। स्कूल में कोई भी घटना होने पर टीचर्स और प्रिंसिपल को दोषी मानते हुए केस दर्ज किए जाने की नीति बना दी गई है। जब इससे भी सरकार का मन नहीं भरा तो पुलिस वेरिफिकेशन और साइकॉमेट्रिक टेस्ट करवाने का आदेश जारी कर दिए गए। टीचर्स के अपॉइंटमेंट को लेकर जो नियम बनाए हैं, उससे बेहतर रिजल्ट वाली टीचर्स के तजुर्बे को नजरअंदाज किया जा रहा है, जिससे देशभर में लाखों टीचर्स बेरोजगार हो जाएंगे।